Email: support@kalamanthan.in, editor@kalamanthan.in

Love

 

The feeling divine, matters of the heart.
A gleam in the eyes, tugging at the strings.

Fresh dawn embracing an angelic start.
Flight of the soul with new fluttering wings.

A whiff of fresh air, ethereal calm.
Blush of cheeks amidst dancing beady eyes.

The melody of songs like soothing balm.
The sound of soft whimpers and heavy sighs.

The aroma of mud in pouring rain.
The plight of burning midnight candle.

A deep feeling of neither loss nor gain.
This is between you and me to handle.

Oh! Love an experience beyond words.
Like the chirping of little morning birds.

RashimRohitBrutta

The poetry form is Sonnet with rhyming scheme abab, cdcd, efef, gg

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

अम्मा का इंतकाल

बालपन में घटित एक दुःखद घटनकाल की सुखद अनुभूतियाँ, ये मेरे बालपन का संस्मरण है,जब मासूमियत दिल पे हावी होती है और ज़ुबाँ पे...

अनुराधा

रात का अंधेरा और गहरा होता जा रहा था साथ ही मेरे भीतर की जदोजहद भी गहरी होती जा रही थी | बीते कुछ...

आज़ादी की क़ीमत

  रानी के पड़ोसी दूसरे शहर शिफ्ट हो रहे थे, जाते हुए उन्होंने अपना तोता रानी को दे दिया। पहले रानी को यह ज़िम्मेदारी कुछ...

मेरा अपना भी अस्तित्व हैं

“सुबह पांच बजे के करीब नींद खुली, फ़िल्टर कॉफ़ी माइक्रो कर जब बालकनी में आई, अद्भुत नज़ारा था..सामने वाले पार्क से आता कलरव आस...

Recent Comments

Manimala Chatterjee on गुलाब
Manisha on गुलाब
Rajesh Kumar on गुलाब