Email: support@kalamanthan.in, editor@kalamanthan.in

Home Poetries बारिश की बूंदो गिरने की आवाज़

बारिश की बूंदो गिरने की आवाज़

बारिश की बूंदो की
गिरने की आवाज़ !
पत्तो पर बूंदो के
ठहरने का अहसास !
कुछ होता है खास!!१!!

बूंदों का फूलो पर
कुछ गिरने का अंदाज!
उनका गिरकर ठहरकर धीमे से
खो जाने का अंदाज !!
कुछ होता है खास !!२!!

बारिश की रातो में
सन्नाटो की चीत्कार!
सन्नाटो से मन
घवराने का अहसास !!
कुछ होता है खास !!३!!

रातों में सर्द हवाओ की
सनसनाहट की आवाज़ !
और हवाओ का मन को
छू जाने का अहसास !
एक अनोखा अहसास
फिर भी है कुछ खास !!४!!

 

 

 

 

Read more by the Author

कलामंथन भाषा प्रेमियों के लिए एक अनूठा मंच जो लेखक द्वारा  लिखे ब्लॉग ,कहानियों और कविताओं को एक खूबसूरत मंच देता हैं।अगर आप भी लिखने या पढ़ने के शौकीन हैं तो हमारे मंच का हिस्सा बनिये Log in to http://www.kalamanthan.in
लेख में लिखे विचार लेखक के निजी हैं और ज़रूरी नहीं की कलामंथन के विचारों की अभिव्यक्ति हो।

हमें फोलो करे Facebook

Previous articleRoses and lilies
Next articleमेरी खुशी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

सवालों पर बेड़ियाँ – पितृसत्ता की तिलमिलाहट

अक्सर सोचती हूँ की न लिखूं। ये रोज़मर्रा की बातें हैं और घटियापन ,ओछेपन और बीमार मानसिकता पर तो जी ही रहें हैं हम। अपने काम...

अंतरज्वाला

इधर कुछ दिनों से अंजलि बैंक से काफ़ी देर से लौटने लगी थी। अंजलि और अजय दोनों कामकाजी थे। अंजलि बैंक में और अजय...

दो दिल मिले चुपके-चुपके

  "निलेश आज जो हुआ वो ठीक नहीं था" " हां सीमा इस बात का मुझे भी एहसास है कि हमसे अन्जाने में बहुत बड़ी गल्ती...

अब बस

  रूपा सुबह सुबह हाँथ में चाय का कप लिए हॉल में बैठकर टीवी देखते हुए चाय पी रही थी कि तभी उसको डोरबेल की...

Recent Comments