Email: support@kalamanthan.in, editor@kalamanthan.in

Home Blogs अप्रैल माह - कहानी लेखन प्रतियोगिता

अप्रैल माह – कहानी लेखन प्रतियोगिता

क्या लेखन आपकी कल्पना की अभूतपूर्व उड़ान है ?

क्या कहानियां एवं कथा साहित्य आपकी रूचि है ?

क्या दूसरों की लिखी कहानियों को पढ़ आपको भी लगता है की “अरे ये तो मैं भी लिख सकती थी” !

अगर हाँ, तो हम आपके लिए ही हैं कहानी लेखन प्रतियोगिता!

नई बदलती दुनिया को अपनी निगाह से देखें और शब्दों में ढालें।
हम आपके लिए लेकर आए हैं अप्रैल माह की कहानी लेखन प्रतियोगिता । प्रतियोगिता में भाग लेने हेतु नियम इस प्रकार हैँ :
1. यहाँ हम आपको एक पंक्ति दे रहें हैं , आपकी कहानी में इस पंक्ति का प्रयुक्त होना अनिवार्य है अर्थात् आपकी कहानी में यह पंक्ति होनी ही चाहिए|
2. आपकी कहानी मौलिक, अप्रकाशित व अप्रसारित होनी चाहिए ।
3. कहानी निम्नतम 800 तथा अधिकतम 2000 शब्दों की होनी चाहिए अर्थात् आपकी कहानी (800-2000) शब्दों की हो ।
4. कहानियाँ भेजने की अंतिम तिथि 25 /4 /2021 (25 अप्रैल 2021 ) है
5. कहानियाँ किसी भी विषय पर हो सकती हैं (प्रेम, काल्पनिक,हॉरर,वात्सल्य,रहस्य, रोमांच, हास्य इत्यादि)
6. आप अधिकतम दो कहानियाँ भेज सकते हैं ।
7. पुरस्कृत रचना को समूह की ओर से अमेज़न गिफ़्ट वाउचर प्रदान किये जायेंगे।
8. एडिटिंग टीम कहानी के नाम व कुछ महीन त्रुटियां ठीक करने या बदलने का अधिकार रखती है।
अप्रैल महीने की कहानी के लिए हमारे साथ बतौर मेंटर और निर्णायक जुडी है “निर्मला सिंह जी।

निर्मला सिंह,जी कवियत्री व चित्रकार हैं। अंग्रज़ी साहित्य में स्नातकोत्तर और हिंदी में संवेदशील लेखनी में रत ! वर्षों से विविध पत्र पत्रिकाओं में उनकी लघु कथाओं व कविताओं का प्रकाशन व संप्रति 6 हिंदी कविताओं की पुस्तकें नामी प्रकाशकों द्वारा हुई है ।
गत 30 वर्षों से , देश विदेश की प्रमुख कला वीथिकाओं में कलाकृतियों का प्रदर्शन में व्यस्त रहीं और 2 वर्षों तक चंडीगढ़ ललित कला अकादमी की चयनित सदस्या भी
संस्कार भारती, खादी विलेज इंडस्ट्रीज कमीशन , आई ई आर टी , आल इंडिया एयरफोर्स वाइव्स असोसिएशन द्वारा, केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय द्वारा सम्मानित लिखिका नयी लेखनी को भपुर प्रोत्साहन देती हैं ।
आजकल, ऐतिहासिक परिदृश्य पर, आज के परिवेश में उपन्यास व कहानी संग्रह का लेखन में लीन हैं।

निर्मला जी की दी हुई पंक्तियों के इर्द गिर्द बुने कहानी।

“सुबह पांच बजे के करीब नींद खुली, फ़िल्टर कॉफ़ी माइक्रो कर जब बालकनी में आई, अद्भुत नज़ारा था..सामने वाले पार्क से आता कलरव आस बंधा गया!”

इस पंक्तियों को अपनी कहानी में अपने तरीके से प्रयोग करें।
कहानी को कलामंथन की वेबसाइट पर डालें और #अप्रैल_लेखन_प्रतियोगिता डालना न भूले।
आखिरी तारीख है कहानियाँ भेजने की अंतिम तिथि 25 /4 /2021 (25 अप्रैल 2021 ) है
अत: आप सभी से अनुरोध है कि अधिक से अधिक संख्या में प्रतियोगिता में भाग लेकर इसे सफल बनाएँ
साथ ही अपने परिचित रचनाकारों भी इस आयोजन से जोड़ें ।
अपने लेखन को दीजिये कल्पना की उड़ान!!

 

 

 

कलामंथन भाषा प्रेमियों के लिए एक अनूठा मंच जो लेखक द्वारा लिखे ब्लॉग ,कहानियों और कविताओं को एक खूबसूरत मंच देता हैं। कहानी प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए कलामंथन वेबसाइट पर जाएँ ।

हमें फोलो करे Facebook

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

अप्रैल माह – कहानी लेखन प्रतियोगिता

क्या लेखन आपकी कल्पना की अभूतपूर्व उड़ान है ? क्या कहानियां एवं कथा साहित्य आपकी रूचि है ? क्या दूसरों की लिखी कहानियों को पढ़ आपको...

इतना शोर इतनी हाय

कल्पना में सत्यता का शब्द पिरोए हम-तुम रोएं, गांव की हो, आंचल ढंकती नहीं क्यों तुम सुहागन हों, चूड़ियां खनकती नहीं ‌क्यों, कामकाजी हो, हर वक्त चलती नहीं...

गुलाब

  रेड लाईट देखते ही पीयूष ने गाड़ी रोकी। आगे-पीछे कुछ और गाडियांँ खड़ी थी। वह रेड लाईट की ओर देख रहा था....उफ्फ! पूरे मिनट...

आधुनिक युग की मीरा – महादेवी वर्मा

रंगोत्सव पर जन्मी,आजीवन श्वेताम्बरा, "छायावाद की सरस्वती " - कवयित्री महादेवी वर्मा बीन भी हूँ मैं, तुम्हारी रागिनी भी हूँ, नींद भी मेरी अचल, निस्पंद कण-कण...

Recent Comments

Manisha on गुलाब
Rajesh Kumar on गुलाब
KUMAR PRITESH on गुलाब