Phone No.: +917905624735,+919794717099

Email: support@kalamanthan.in

Monika Kapur

2 POSTS1 COMMENTS
Monika Kapur is a poet, writer, painter and a die hard optimist. Her words give her strength and a great sense of satisfaction but her life revolves around her husband and two kids. She’s author of the book “Melange-the potpourri of emotions” s and the book is her dream. Reading is her first love and it laid the foundation of her being a writer. Writing satiates her soul

An ode to frontliners

This COVID 18 taught us a lot Confined us in our space The earth started healing, The moment we slowed our pace While we all are sitting...

The Silver Anklets

What sunshine is to flowers, Smiles are to humanity. These are but trifles, to be sure; but scattered along life's pathway, the good they...

TOP AUTHORS

Most Read

पितृसत्ता में पिसते पुरुष

नारीवाद या फेमिनिज्म से भी लोगों को गुरेज़ शायद इसीलिए भी है की वो प्रत्येक नारी के पुरुष को और प्रत्येक पुरुष के भीतर...

लड़की लवली तो होनी ही चहिये।

संस्कारो का, यूँ कहिए की एडिटिंग का डर है वरना शुद्ध हिंदी में कुछ परोसने को जी चाहता उनको, जो फेयर मतलब ग्लो के...

आंखो की नमी से बहता काजल

आंखो की नमी से, बहता काजल देखा है कभी ,दर्द का बादल !! काजल के बहने से, होती वो हल चल सासो के सिसकियां में , बदल...

चिड़िया

  मत कैद करों चिड़ियों को जाने दो जहाँ जाना है ! उड़ने दो इस आसमान मे उनको भी पंख पसारना है!!१!! उनको इस आसमान में अपनी पहचान बनाना है...