Email: support@kalamanthan.in, editor@kalamanthan.in

Ragini Preet

11 POSTS1 COMMENTS

आज़ादी की क़ीमत

  रानी के पड़ोसी दूसरे शहर शिफ्ट हो रहे थे, जाते हुए उन्होंने अपना तोता रानी को दे दिया। पहले रानी को यह ज़िम्मेदारी कुछ...

गुलाब

  रेड लाईट देखते ही पीयूष ने गाड़ी रोकी। आगे-पीछे कुछ और गाडियांँ खड़ी थी। वह रेड लाईट की ओर देख रहा था....उफ्फ! पूरे मिनट...

रूढ़ियों को तोड़ती बेटियाँ

  वो जिसे मेरा दामन कहते हो ना उसके आगे मेरा पूरा आसमान है। चूड़ी, पाजेब के आगे पूरा मेरा जहान है। वो लम्हें कैसे गिनाऊँ यारों मेरा जीवन ही...

मजोरंजन का बदलता आयाम – कितना सही कितना गलत

हमारे मनोरंजन का हमारे जीवन शैली और हमारे विचार पर व्यापक प्रभाव पड़ता है।हालिया दौर में वेब सीरीज़ का चलन और बढ़ती लोकप्रियता -...

ज़ंजीर

फेयरी लाईट्स के झालर से चाँद अचंभित था, पृथ्वी पर तारों की महफिल का सजना उसे भरमाने लगा। तारे के एक टुकड़े को तेज़ी...

सही पता

  सरिता माँ से लिपट कर बिलखती जा रही थी, उसकी तीनों बहनें दुखी मन से दीदी का बैग समेट रही थी, और पिता बटुए...

इंसानियत का धर्म

स्टेशन से महेंद्र सीधे राजीव के दफ्तर पहुँचा, और जाता भी कहाँ? घर का अता-पता तो था नहीं, हाँ राजीव इस मल्टीनेशनल कम्पनी में...

मंजरी सदन

  22/6 म.... म...मंजरी .... मंजरी सदन...!! रवि स्तब्ध था, दिल मानने से इंकार कर रहा था कि ये वही घर है जहाँ उसकी बेटी...

प्यार का गुलाब

“उसने सिर उठा कर देखा। लाइब्रेरी की सीढ़ियों से उतरती हुई चली आ रही थी सफेद दुपट्टा लहराती एक परी। उसे भ्रम हुआ कि...

बचपन को बांटते रंग

  डीयर किंडर जॉय......... सबसे पहले तो तुम्हें बहुत बधाई कि तुम हमारे नन्हे-मुन्ने का दिल जीतने में इतने कामयाब रहे। किसी शॉप में अगर...

TOP AUTHORS

Most Read

अम्मा का इंतकाल

बालपन में घटित एक दुःखद घटनकाल की सुखद अनुभूतियाँ, ये मेरे बालपन का संस्मरण है,जब मासूमियत दिल पे हावी होती है और ज़ुबाँ पे...

अनुराधा

रात का अंधेरा और गहरा होता जा रहा था साथ ही मेरे भीतर की जदोजहद भी गहरी होती जा रही थी | बीते कुछ...

आज़ादी की क़ीमत

  रानी के पड़ोसी दूसरे शहर शिफ्ट हो रहे थे, जाते हुए उन्होंने अपना तोता रानी को दे दिया। पहले रानी को यह ज़िम्मेदारी कुछ...

मेरा अपना भी अस्तित्व हैं

“सुबह पांच बजे के करीब नींद खुली, फ़िल्टर कॉफ़ी माइक्रो कर जब बालकनी में आई, अद्भुत नज़ारा था..सामने वाले पार्क से आता कलरव आस...