Email: support@kalamanthan.in, editor@kalamanthan.in

Home #जनवरी_कहानी_लेखन_प्रतियोगिता

#जनवरी_कहानी_लेखन_प्रतियोगिता

झुठलाते सच

नीरसता बढ़ती ही जा रही थी। उसकी जिंदगी में कम, उसके ऑफिस में ज्यादा। आज फिर आहना का काम करने का मन ही नहीं...

कबूल कर लो

सचिन मेज पर औंधे मुँह पड़ा था। मन का अंधकार कमरे में जल रही ट्यूबलाइट की रोशनी पर जोर जमा रहा था। वह और...

वागदत्ता का सातवां फेरा

ये कहानी है तन्वी की... मेरी सखी जिसे प्यार से हम सब तनु कहते थे। किशोरावस्था से नए नए यौवन की दहलीज़ में हमने...

महक….!

"अरे वाह! मनोरमा आज तो तुम्हारी रसोई में बहुत समय बाद ऐसी खुशबू आई।बेटे की पसंद का खाना बनाया जा रहा है।" नवीन जी...

वो साँवली सी लड़की

"अरे सामाजिक संरचना ही ऐसी है कि लड़कियों को न चाहते हुए भी बातें बर्दाश्त करनी पड़ती है क्योंकि समाज भी तो लड़कियों को...

कहानी लेखन प्रतियोगिता – जनवरी 2021

क्या लेखन आपकी कल्पना की अभूतपूर्व उड़ान है ? क्या कहानियां एवं कथा साहित्य आपकी रूचि है ? क्या दूसरों की लिखी कहानियों को पढ़ आपको...

Most Read

सुजीत सरकार की नायिकाएं

सुजीत सरकार की फ़िल्में कई मायनों में एक ताजगी लिए होती हैं| उनकी फिल्मों की पटकथाओं के साथ ही, उनके किरदार भी लम्बे समय...

यह कैसी सज़ा ?

"आह! पानी...पानी...कोई पानी पिला दो।" कराहते हुए दीपू ने अपनी अधमुँदी आँखें खोलकर इधर- उधर देखा। पपड़ाए सूजे हुए होठों पर ,जीभ फिराकर उन्हें गीला...

ये मोह मोह के धागे

"अरे! बेटा रूही इतना घबराओ मत, कल तुम्हें हमारे घर बहू बन कर आना है कोई गुलाम बन कर नहीं"। यह बोल कर सुमन...

फैमिली ट्रिप

  बाण गंगा को पीछे छोड़े अभी आधा घण्टा ही हुआ था कि माताजी ने ऐलान किया कि भईया उनसे न हो पाएगा। बहुत विचार...