Email: support@kalamanthan.in, editor@kalamanthan.in

Home Poetries

Poetries

No God In A Temple

There is no god in a temple, for I see a rock there. I find him in the blazing hot light And under the breezy moonlit...

लॉक डाउन में तो कमाल हो गया

लॉक डाउन में तो कमाल हो गया जहाँ परिवार में न होती थी आपस में बातें , जोड़ दिया उन सब टूटे ख्याबों को , समय दिया...

हौसला हो यदि बुलंद तो मुश्किल नहीं करेगी तंग

सफलता प्राप्त करने हेतु अनेक मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। राह में अनगिनत बाधाएं आती हैं। मुश्किलें हिम्मत तोड़ना चाहती हैं। मुश्किलों से भयभीत होने की...

नगरवधू

  कमल नयन कटोरे भरे जल की बदली, जाने कितने हाथों से बँधी वो कठपुतली... रखकर दाँव पर अपने आत्मसम्मान को, नगरवधू बन वो मासूम चली इक नगर...

Cover Me With Love

Loneliness talks pain Tears roll down over veins Numb are the notions Feelings with no motion Just a long void That wants to avoid Avoid something Precious in nature Without which Seems no...

आंखो की नमी से बहता काजल

आंखो की नमी से, बहता काजल देखा है कभी ,दर्द का बादल !! काजल के बहने से, होती वो हल चल सासो के सिसकियां में , बदल...

चिड़िया

  मत कैद करों चिड़ियों को जाने दो जहाँ जाना है ! उड़ने दो इस आसमान मे उनको भी पंख पसारना है!!१!! उनको इस आसमान में अपनी पहचान बनाना है...

राधे तेरी बन्सी और बृज की छाँव

राधे ,कहाँ गयी तेरी बन्सी और बृज की वो छाँव न रहा वो मिट्टी का अपनापन और गऊओं से लगाव अब नहीं आऊगा तेरे  गॉंव वो पुष्पों...

ढलता सा सूरज

ढलता सा सूरज था रौशनी सी चमक रही थी वही दूर एक चेहरे पर रौनक सी झलक रही थी चिड़ियों की चहचहाट थी और था अजीब सा शोर शायद मेरे...

बारिश की बूंदो गिरने की आवाज़

बारिश की बूंदो की गिरने की आवाज़ ! पत्तो पर बूंदो के ठहरने का अहसास ! कुछ होता है खास!!१!! बूंदों का फूलो पर कुछ गिरने का अंदाज! उनका गिरकर ठहरकर...

Roses and lilies

I was in the rose garden, watching the alluring flower... it kind of won my heart... it was mesmerising, I couldn't think of anything else... I decided to...

I swallowed a black hole

It feels like I swallowed a black hole. I can feel it in the pit of my stomach I can feel it reaching my heart Tugging at...

Most Read

मेरा अपना खुद का घर

मैं....मैं हूँ, यह मेरा वजूद है!किसने दिया तुमको यह हक, कि तुम खुद को मेरा भगवान समझ बैठे। रिश्ते में बंधी थी जीवनसंगिनी थी, बराबर का...

औरत के सपने

एक औरत के सपने जो औरत ने कभी देखे ही नहीं अपने लिए, विरासत में मिले सपने मुझे मां से मां को अपनी मां से बचपन से बताया...

ममता की आस

  चंदा है तू , मेरा सूरज है तू बंगले के बगल के मोड़पर पान की दुकान पर रेडियों पर गाना बज रहा था।यूँ तो श्यामा...

ये कैसी मानसिकता?

        नारी जीवन का सबसे सुंदर रूप माँ का माना जाता है और वह माँ तभी बनती है जब उसका शारीरिक विकास पूर्ण हो।एक...