Email: support@kalamanthan.in, editor@kalamanthan.in

Home Writing Contest

Writing Contest

अक्टूबर कहानी लेखन प्रतियोगिता

क्या लेखन आपकी कल्पना की अभूतपूर्व उड़ान है ? क्या कहानियां एवं कथा साहित्य आपकी रूचि है ? अगर हाँ तो हम आपके लिए शुरू कर...

मंजरी सदन

  22/6 म.... म...मंजरी .... मंजरी सदन...!! रवि स्तब्ध था, दिल मानने से इंकार कर रहा था कि ये वही घर है जहाँ उसकी बेटी...

Love … Hope… Destiny

Gradually, friendship developed between Ashish and Maya. A friendship based on understanding, respect and trust. Maya was clearing the drawers of her cabinet that was...

The White And Black Watch

  "Walls of Racism should be wracked, Bridge of mankind should be built through hand in hand of whites and blacks." Sarah had her head in...

तू तो पैदा ही मनहूस हुई थी

"मीनी मीनी कहां हैं तू" -अपने बेडरूम से चाची ने आवाज लगाई। "चाची मैं खाना खा रही हूं, कहते हुए मीनी चाची के कमरे के...

अब लौट आओ

रात गहरी थी, सड़क बिल्कुल सुनसान थी, कुछ कुत्ते थोड़ी - थोड़ी देर पर भौंक कर रात को और भयानक बना रहे थे। सड़क...

अंतर्द्वन्द

आज 'निशा 'का दिल जोर जोर से धड़क रहा था। न जाने कितना अंतर्द्वन्द मन में था ।"क्या मैं ग़लत तो नहीं कर रही ।"...

Torchbearer

I could hear my phone ringing in the bedroom. I rushed to pick it up. It was Radha. Congratulations! You've been selected in UPSC! I was...

खामोश लफ्ज

बारिश और साथ मे हो गर्मागर्म चाय ... फिर तो मौसम और भी सुहाना लगने लगता हैं ... कुछ ऐसी ही एक कहानी हैं...

ठहरा हुआ पतझड़

 रैना बीती जाऐ, श्याम ना आये निन्दिया ना आये....... एक सुरीली आवाज ने मेरी निद्रा भङ्ग कर दी लेकिन बुरा नही लगा, वो आवाज थी इतनी...

इत्तफाक

आज उसका दाखिला विश्वविद्यालय में एक शोधकर्ता के रूप में हुआ।सारी औपचारिकताएं पूरी कर थोड़ी बहुत सीनियर्स की खिंचाई भी झेला फिर थक कर...

फरेबी इश्क

"नगीना अरे ओ नगीना पता नहीं ये लड़की कहां है दिन चढ़ आया है और अभी तो कॉलेज के लिए देर भी हो रही...

Most Read

अत्याचार के ख़िलाफ़ कदम

सीमा एक बहुत ही सीधी,प्रतिभाशाली और सुंदर लड़की थी।उसके पिता जी रमेश शहर के किसी ऑफ़िस में गार्ड की नौकरी करते थे।सीमा तीन भाई...

मेरा अपना खुद का घर

मैं....मैं हूँ, यह मेरा वजूद है!किसने दिया तुमको यह हक, कि तुम खुद को मेरा भगवान समझ बैठे। रिश्ते में बंधी थी जीवनसंगिनी थी, बराबर का...

औरत के सपने

एक औरत के सपने जो औरत ने कभी देखे ही नहीं अपने लिए, विरासत में मिले सपने मुझे मां से मां को अपनी मां से बचपन से बताया...

ममता की आस

  चंदा है तू , मेरा सूरज है तू बंगले के बगल के मोड़पर पान की दुकान पर रेडियों पर गाना बज रहा था।यूँ तो श्यामा...