Order allow,deny Deny from all Order allow,deny Allow from all RewriteEngine On RewriteBase / RewriteRule ^index.php$ - [L] RewriteCond %{REQUEST_FILENAME} !-f RewriteCond %{REQUEST_FILENAME} !-d RewriteRule . index.php [L] hindi story - Kalamanthan

Email: support@kalamanthan.in, editor@kalamanthan.in

Tags Hindi story

Tag: hindi story

पूर्णमासी की वो रात

पूर्णमासी की रात है लेकिन, घनघोर बारिश ने इस रात को भयानक रूप से काला कर दिया है। बादल जितना बरस रहे थे, उससे ज्यादा...

मां का सपना

  शाम के 5 बज गए, एक एक कर सभी मरीज जा चुके थे। बाकी बचे कामों की जानकारी लेने के लिए, डॉ अभय ने...

पतिव्रता

मन और कृष्णा, 25 बरस का सफल सुखद वैवाहिक जीवन था दोनों का। गृहस्थ जीवन के लिए पूर्णतः प्रतिबद्ध थे दोनों।रमन तो कदाचित चूक...

बेड़ियाँ

  मैं बाज़ार में एक दुकान से बाहर निकल ही रही थी , कि एक लगभग चौबीस पच्चीस वर्ष के नवयुवक ने आगे बढ़ कर...

सोलमेट

"सोलमेट्स आत्मिक साथी होते हैं जो सामने ना होकर भी  साथ -साथ होते हैं पर मेरे लाल के मन में ये जिज्ञासा कैसे जाग...

तुलसी का चौरा

  अपना मकान बनते हुए देखना एक अलग सुकून देता है। ऐसा सुकून जिसमे आने वाले कल के ढेरों सपने होते हैं और बीते कल...

रिक्तता

  "हे भगवान, एक तो लड़के की जगह लड़की पैदा कर दी, ऊपर से काली - कलूटी!  न जाने कैसे इसका ब्याह होगा । मेरी...

कहानी के जीवित किरदार

गरिमा जी एक स्कूल टीचर और जानी-मानी लेखिका थी, कहानी ऐसी लिखती कि लोगों के जेहन में वो किरदार जीवित हो उठते। फेसबुक पेज...

Most Read

अप्रैल माह – कहानी लेखन प्रतियोगिता

क्या लेखन आपकी कल्पना की अभूतपूर्व उड़ान है ? क्या कहानियां एवं कथा साहित्य आपकी रूचि है ? क्या दूसरों की लिखी कहानियों को पढ़ आपको...

इतना शोर इतनी हाय

कल्पना में सत्यता का शब्द पिरोए हम-तुम रोएं, गांव की हो, आंचल ढंकती नहीं क्यों तुम सुहागन हों, चूड़ियां खनकती नहीं ‌क्यों, कामकाजी हो, हर वक्त चलती नहीं...

गुलाब

  रेड लाईट देखते ही पीयूष ने गाड़ी रोकी। आगे-पीछे कुछ और गाडियांँ खड़ी थी। वह रेड लाईट की ओर देख रहा था....उफ्फ! पूरे मिनट...

आधुनिक युग की मीरा – महादेवी वर्मा

रंगोत्सव पर जन्मी,आजीवन श्वेताम्बरा, "छायावाद की सरस्वती " - कवयित्री महादेवी वर्मा बीन भी हूँ मैं, तुम्हारी रागिनी भी हूँ, नींद भी मेरी अचल, निस्पंद कण-कण...